यूपी एडेड जूनियर हाईस्कूल टीचर सिलेबस 2021 – उत्तर प्रदेश में एडेड जूनियर हाईस्कूल शिक्षक भर्ती का रिजल्ट कार्ड जारी।

UP Aided Junior High School Teacher Syllabus in Hindi 2021 – सरकारी रोजगार (www.skrojgar.com) के यूपी एडेड जूनियर हाईस्कूल टीचर सिलेबस 2021 वेबपेज पर आपका स्वागत है। उत्तर प्रदेश बेसिक एजुकेशन बोर्ड (UPBEB) ने हाल ही में यूपी एडेड जूनियर हाईस्कूल टीचर भर्ती 2021 के पदों के लिए योग्य उम्मीदवारों से ऑनलाइन आवेदन की घोषणा और आमंत्रित की थी। इस भर्ती के लिए कुल रिक्तियों की संख्या 1894 पद है। जिसमें सहायक अध्यापक और प्रधानाध्यापक के पद शामिल है।

उत्तर प्रदेश एडेड जूनियर हाईस्कूल शिक्षक भर्ती परीक्षा 2021 की तैयारी कर रहे अभ्यर्थी जूनियर हाईस्कूल शिक्षक भर्ती 2021 से सम्बंधित पाठ्यक्रम और परीक्षा प्रणाली की महत्वपूर्ण जानकारी निम्नवत है। अन्य सरकारी रोजगार जानकारी हेतु हमारी ऑफिसियल वेबसाइट Skrojgar.com पर विजिट करें।

उत्तर प्रदेश एडेड जूनियर हाईस्कूल शिक्षक भर्ती लेटेस्ट न्यूज़ इन हिंदी
  • यूपी एडेड जूनियर हाईस्कूल टीचर का रिजल्ट जारी कर दिया गया है। निर्दिष्ट लिंक के माध्यम से अपना रिजल्ट कार्ड डाउनलोड कर सकते है।

यूपी एडेड जूनियर हाईस्कूल टीचर सिलेबस 2021 हाइलाइट्स :

उत्तर प्रदेश एडेड जूनियर हाईस्कूल शिक्षक भर्ती परीक्षा सिलेबस 2021
विभाग का नाम उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद, प्रयागराज
परीक्षा का नाम उत्तर प्रदेश एडेड जूनियर हाईस्कूल शिक्षक भर्ती परीक्षा 2021
परीक्षा नियामक प्राधिकारी का नाम सचिव,परीक्षा नियामक प्राधिकारी, उत्तर प्रदेश, प्रयागराज
विज्ञापन संख्या संख्या-1/2019/1917 /अड़सठ-3-2019-28(35)/2001
रिक्तियों की संख्या 1894 पद
पद का नाम सहायक अध्यापक एवं प्रधानाध्यापक
परीक्षा की तिथि 17 अक्टूबर 2021
आर्टिकल का प्रकार एग्जाम सिलेबस
ऑफिशियल वेबसाइट www.examregulatoryauthorityup.in

चयन प्रक्रिया : यूपी एडेड जूनियर हाईस्कूल शिक्षक भर्ती 2021 के लिए सहायक अध्यापक एवं प्रधानाध्यापक के पदों की चयन प्रक्रिया निम्न चरणों में की जाएगी।

  • लिखित परीक्षा (60 % भारांक)
  • शैक्षिक योग्यता (40 % भारांक) – 10th, 12th, ग्रेजुएशन, बीएड/बीटीसी में प्रत्येक का 10 %।
  • डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन
  • इंटरव्यू

यूपी एडेड जूनियर हाईस्कूल टीचर परीक्षा पैटर्न एवं पाठ्यक्रम 2021:

  • वस्तुनिष्ठ ऑफलाइन लिखित परीक्षा आयोजित की जाएगी।
  • प्रश्न पत्र हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषा (Bilingual) में होगा।
  • परीक्षा का समय – 2:30 घंटे (150 मिनट)
  • जूनियर शिक्षक भर्ती परीक्षा में नकारात्मक मूल्यांकन नहीं होगा।
  • परीक्षा दो प्रश्न पत्र में होगी। पेपर-I सामान्य ज्ञान (सभी के लिए अनिवार्य) होगा तथा पेपर-II भाषा, सामान्य अध्ययन, गणित और विज्ञान का होगा। जिसमें भाषा पेपर में (संस्कृत, हिंदी और अंग्रेजी) में से एक विषय चुन सकते है।
  • प्रधानाध्यापक के पदों पर भर्ती हेतु एक घण्टे (60 मिनट) का “शैक्षिक प्रबन्धन एवं प्रशासन” विषय से सम्बंधित 50 प्रश्नों का अलग से द्धितीय प्रश्न पत्र होगा।
  • प्रश्न पत्र के कठिनाई का स्तर स्नातक होगा।

यूपी सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालय शिक्षक पाठ्यक्रम 2021 हिंदी में :

1- सामान्य ज्ञान / समसामयिक घटनाएं / तार्किक ज्ञान :-

  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की समसमायिक घटनाएँ।
  • भारत का इतिहास एवं भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन।
  • भारत का भूगोल।
  • भारतीय ताजनीति एवं शासन -संविधान, राजनितिक व्यवस्था, पंचायती राज, लोकनीति, आधिकारिक प्रकरण इत्यादि।
  • आर्थिक और सामाजिक विकास – सतत विकास, गरीबी अन्तर्विष्ट जनसांख्यिकीय, सामाजिक क्षेत्र के इनिसिएटिव आदि।
  • पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी सम्बन्धी सामान्य विषय, जैव विविधता एवं जलवायु परिवर्तन।
  • सामान्य ज्ञान।
  • उपमाएं अभिकथन और कारण, द्विआधारी तर्क, वर्गीकरण, घड़ियां और कैलेंडर, कोडित असमानता कोडिंग डिकोडिंग।

प्रधानाध्यापक और सहायक अध्यापक हेतु-

खण्ड (क) :

2- हिंदी (Hindi) :

  • हिंदी साहित्य एवं भाषा का इतिहास।
  • अपठित गद्यांश एवं पद्यांश।
  • व्याकरण।
  • प्रमुख लेखकों/ कवियों का सामान्य परिचय एवं उनकी रचनाएँ।

3- अंग्रेजी (English) :

  • History of English Literature and Language
  • Unseen Passage
  •  Grammar
  • Writers, General Introduction and their work.

4- संस्कृत (Sanskrit) :

  • संस्कृत साहित्य एवं भाषा का इतिहास।
  • व्याकरण।
  • अपठित गद्यांश एवं पद्यांश।
  • प्रमुख लेखकों / कवियों का सामान्य परिचय एवं उनकी कृतियाँ।
खण्ड (ख)

5- सामाजिक अध्ययन (Social Studies) :

  • इतिहास जानने के स्रोत।
  • पाषाणकालीन संस्कृति, ताम्र पाषाणिक संस्कृति, वैदिक संस्कृति।
  • छठी शताब्दी ई0 पू0 का भारत।
  • भारत के प्रारम्भिक राज्य।
  • भारत में मौर्य साम्राज्य की स्थापना।
  • मौर्योत्तरकालीन भारत, गुप्तकाल, राजपूत कालीन भारत, पुष्यभूति वंश, दक्षिण भारत के राज्य।
  • छठी शताब्दी का धार्मिक और सामाजिक विकास।
  • इस्लाम का भारत में आगमन, दिल्ली सल्तनत की स्थापना, विस्तार, विघटन।
  • मुगल साम्राज्य, संस्कृति, पतन।
  • यूरोपीय शक्तियों का भारत में आगमन एवं अंग्रेजी राज्य की स्थापना।
  • भारत में कम्पनी राज्य का विस्तार।
  • भारत में नवजागरण, भारत में राष्ट्रवाद का उदय।
  • स्वाधीनता आन्दोलन, स्वतंत्रता प्राप्ति, भारत विभाजन।
  • स्वतन्त्र भारत की चुनौतियाँ।
  • हम और हमारा समाज।
  • ग्रामीण एवं नगरीय समाज व रहन-सहन, ग्रामीण एवं नगरीय स्वशासन।
  • जिला प्रशासन।
  • हमारा संविधान, केंद्रीय व राज्य शासन व्यवस्था।
  • भारत में लोकतंत्र।
  • देश की सुरक्षा एवं विदेश निति, वैश्विक समुदाय एवं भारत।
  • नागरिक सुरक्षा,  यातायात सुरक्षा।
  • दिव्यांगता।
  • सौरमण्डल  में पृथ्वी, ग्लोब – पृथ्वी पर स्थानों का निर्धारण, पृथ्वी की गतियाँ।
  • मानचित्रण, पृथ्वी के चार परिमण्डल, स्थल मण्डल -पृथ्वी की संरचना, पृथ्वी के प्रमुख स्थलरूप।
  • विश्व में भारत, भारत का भौतिक स्वरूप, मृदा, उर्वरक का प्रयोग एवं महत्व, वनस्पति एवं वन्य जीव, भारत की जलवायु, भारत के  संसाधन, यातायात, व्यापर एवं संचार।
  • उत्तर प्रदेश – भारत में स्थान, राजनीतिक विभाग, जलवायु, मृदा, वनस्पति एवं वन्य जीव, कृषि, खनिज अद्योग – धन्धे, जनसंख्या एवं नगरीकरण।
  • वायुमण्डल, जलमण्डल।
  • संसार के प्रमुख प्राकृतिक प्रदेश एवं जन-जीवन।
  • खनिज संशाधन, अद्योग – धन्धे।
  • भारतीय अर्थव्यवस्था एवं उसकी चुनौतियाँ।
  • पर्यावरण, प्राकृतिक संसाधन एवं उनकी उपयोगिता।
  • प्राकृतिक संतुलन, संसाधनों का उपयोग।
  • जनसंख्या वृद्धि का पर्यावरण पर प्रभाव, पर्यावरण प्रदूषण।
  • अपशिष्ट प्रबंधन, आपदाएं, पर्यावरणविद, पर्यावरण के क्षेत्र में पुरुस्कार, पर्यावरण दिवस, पर्यावरण कैलेण्डर।
 खण्ड (ग)

6- गणित (Mathematics) :

  • प्राकृतिक संख्याएँ, पूर्ण संख्याएँ, परिमेय संख्याएँ।
  • पूर्णांक, कोष्ठक लघुत्तम समापवर्त्य एवं महत्तम समापवर्त्य।
  • वर्गमूल, घनमूल, सर्वसमिकाएँ।
  • बीजगणित, अवधारणा- चर संख्याएँ, अचर संख्याएँ, चर संख्याओं की घात।
  • बीजीय व्यंजकों के जोड़, घटान, गुणा एवं भाग, बीजीय व्यंजकों के पद एवं पदों के गुणांक,सजातीय एवं विजातीय पद, व्यंजकों की डिग्री, एक, दो एवं तृपदीय व्यंजकों की अवधारणा।
  • युगपत समीकरण, वर्ग समीकरण, रेखीय समीकरण।
  • समान्तर रेखाएँ, चतुर्भुज की रचनाएँ, त्रिभुज।
  • वृत्त और चक्रीय चतुर्भज, वृत्त की स्पर्श रेखाएँ।
  • अनुपात, समानुपात, प्रतिशतता, लाभ -हानि, साधारण व्याज, चक्रवृद्धि व्याज।
  • सांख्यिकी – आंकड़ों का वर्गीकरण, पिक्टोग्राफ, माध्य, मध्यिका एवं बहुलक, बारम्बारता।
  • पाई एवं दण्ड चार्ट, अवर्गीकृत आंकड़ों का चित्र।
  • सम्भावना (प्रायिकता), ग्राफ, दंड, आरेख तथा मिश्रित दण्ड आरेख।
  • कार्तीय तल, क्षेत्रमिति (मेन्सुरेशन), घातांक, त्रिकोणमिति।

7- विज्ञान (Science) :

  • दैनिक जीवन में विज्ञान, महत्वपूर्ण खोज, महत्व, मानव विज्ञान, प्रौद्योगिकी।
  • रेशे एवं वस्त्र, रेशों से वस्त्रों तक की प्रक्रिया।
  • सजीव, निर्जीव पदार्थ – जीव जगत, सजीवों का वर्गीकरण,जन्तु एवं वनस्पति के आधार पर पौधों का वर्गीकरण एवं जंतुओं का वर्गीकरण, जीवों में अनुकूलन, जंतुओं एवं पौधों में परिवर्तन।
  • जन्तु की संरचना व कार्य।
  • सूक्ष्म जीव एवं उनका वर्गीकरण।
  • कोशिका से अंगतन्त्र तक।
  • किशोरावस्था, विकलांगता।
  • भोजन, स्वास्थ्य, स्वच्छता  एवं रोग, फसल उत्पादन, नाइट्रोजन चक्र।
  • जन्तुओं में पोषण,  पौधों में पोषण, जनन लाभदायक पौधे।
  • जीवों में श्वसन, उत्सर्जन, लाभदायक जन्तु।
  • मापन, विद्युत धारा, चुम्बकत्व, गति, बल एवं यंत्र।
  • ऊर्जा, ध्वनि, स्थिर विद्युत, प्रकाश एवं प्रकाश यंत्र।
  • वायु – गुण, संघटक, आवश्यकता, उपयोगिता, ओजोन परत, हरित गृह प्रभाव।
  • जल – आवश्यकता, उपयोगिता, स्रोत, गुण, प्रदुषण, जल- संरक्षण।
  • पदार्थ, पदार्थों के समूह, पदार्थों का पृथक्करण, पदार्थ की संरचना एवं प्रकृति।
  • अम्ल, क्षार, लवण।
  • ऊष्मा एवं ताप।
  • मानव निर्मित वस्तुएं, प्लास्टिक, काँच, साबुन, मृतिका।
  • खनिज एवं धातु, कार्बन एवं उसके यौगिक।
  • ऊर्जा के वैकल्पिक स्रोत।
  • आवर्त सारिणी, रक्त की संरचना, वर्ग एवं रक्त के आदान -प्रदान में सावधानियाँ।
8- शैक्षिक प्रबंधन एवं प्रशासन (प्रधानाध्यापक के लिए) :
  • स्कूल प्रबंधन का अर्थ, आवश्यकता और महत्व।
  • स्कूल प्रबंधन के क्षेत्र।
  • भौतिक संसाधनों का प्रबंधन (स्कूल भवन, फर्नीचर, शैक्षिक उपकरण, साज-सामान, शौचालय)।
  • मानव संसाधन प्रबंधन (शिक्षक, बच्चे, समुदाय-ग्राम शिक्षा समिति, स्कूल समिति, शिक्षक अभिभावक संघ, मातृ शिक्षा संघ, महिला प्रेरक दल)।
  • वित्तीय प्रबंधन (स्कूल अनुदान, टीओएलएम अनुदान, स्कूल समुदाय से प्राप्त)
  • विद्यालय संपत्ति से अर्जित धन, ग्राम पंचायत निधि / जन प्रतिनिधियों से अनुदान।
  • शैक्षिक प्रबंधन (कक्षा प्रबंधन, शिक्षण सामग्री प्रबंधन, शिक्षण कोने और पुस्तकालय प्रबंधन।
  • समय प्रबंधन का निर्माण और उपयोग।
  • स्कूल प्रबंधन में विभिन्न अभिकर्मकों की भूमिका।
  • प्रारंभिक शिक्षा के विकास में विभिन्न एजेंसियों और उनकी भूमिका। राष्ट्रीय / राज्य / जिला / स्थानीय स्तर पर काम करने वाली एजेंसियां।
  • प्राथमिक शिक्षा की बुनियादी शिक्षा।
  • आपदा प्रबंधन।

उप एडिड जूनियर हाई स्कूल सिलेबस इन हिंदी 2021 महत्वपूर्ण लिंक :

Important Links
सिलेबस डाउनलोड लिंक डाउनलोड करें
यूपी एडेड जूनियर हाईस्कूल रिजल्ट लिंक डाउनलोड करें
एडमिट कार्ड डाउनलोड लिंक डाउनलोड करें
आधिकारिक वेबसाइट लिंक विजिट करें
सरकारी रोजगार हेतु टेलीग्राम ग्रुप फॉलो करें Telegram Group

महत्वपूर्ण निर्देश : सभी अभ्यर्थियों से अनुरोध है कि यूपी सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालय शिक्षक पाठ्यक्रम 2021 UP Aided Junior High School Teacher Syllabus in Hindi 2021 के लिए आधिकारिक पाठ्यक्रम तथा परीक्षा पैटर्न अवश्य देखें।

Leave a Comment